BETWEEN ARTICLE

ब्लॉकचेन (Block chain) kya hai ? Aur kaise kaam karta hai ?

IMG 20210519 160921

 

Blockchain introduction

block chain
block chain

क्या आपने Block chain ब्लॉकचेन का नाम सुना है अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं है आप बिटकॉइन के बारे में पक्की से जानते होंगे, तो बस ब्लॉक चैन को समझना आपके लिए आसान होगा क्योंकि बिटकॉइन के रिकॉर्ड कीपिंग टेक्नोलॉजी को Blockchain कहते हैं I यह बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो करेंसी के अलावा बैंकिंग और इन्वेस्टिंग की दूसरी फॉर्म से भी रिलेट करती है
इसलिए बेहतर यही होगा कि आप इसके बारे में जान ले और इसके लिए आपको यह आर्टिकल पूरा देखना होगा तो चलिए शुरू करते हैं I

 

Blockchain ब्लॉकचेन को अच्छी तरह से समझते हैं कि आखिर यह है क्या?

ब्लॉकचेन एक तरह का डेटाबेस होता है बेटा बेस क्या होता है डाटा भी एक तरह का इनफॉरमेशंस का सेट होता है जो कंप्यूटर सिस्टम पर इलेक्ट्रॉनिकली उसको रहता है इस डेटाबेस में इंफॉर्मेशन और डाटा टेबल फॉर्मेट में सेट होते हैं ताकि किसी स्पेसिफिक इंफॉर्मेशन की सर्चिंग और फिल्टरिंग आसानी से की जा सके यूं तो यूं तो इस प्रेस्टीज भी एक टेबल फॉर्मेट में होती है लेकिन डेटाबेस इसलिए होता है
क्योंकि  स्प्रेडशीट एक पार्टिकुलर पर्सन के लिए डिजाइन की जाती है जबकि डेटाबेस का यूज़ कितने भी यूजर एक बार में कर सकते हैं ,ब्लॉकचेन का kam डिजिटल इंफॉर्मेशन को रिकॉर्ड करने और डिसटीब्यूट करने की परमिशन देता है लेकिन एडिट करने कि नहीं

Read also Machine learning II मशीन लर्निंग क्या है और यह कैसे काम करती है?मशीन लर्निंग के क्या-क्या फायदे होते हैं?

 

History of block chain ब्लॉकचेन

यह टेक्नोलॉजी सबसे पहले 1991 में स्टुअर्ट Jabar and W. Scott Stronetta  के द्वारा सामने आई थी मगर ब्लॉकचेन डेटाबेस के रियल वर्ल्ड एप्लीकेशन 2009 में सामने आई जोकि बिटकॉइन के लॉन्च के साथ सब लोगों को पता चली थी

 

चलिए जानते हैं इसे block chain ब्लॉकचेन  क्यों कहा जाता है?

blockchain information ko ग्रुप में कलेक्ट करता है और इस ग्रुप को ब्लॉक भी कहा जाता है हर एक ब्लॉक में लिमिटेड स्टोरेज कैपेसिटी होती है इसलिए जब एक ब्लॉक भर जाता है तो वह पहले भरे हुए ब्लॉक से जुड़ जाता है जिससे एक चेन बन जाती है जिसे डाटा की चेन कहते हैं
Aur isiliye is blockchain Kaha jata hai.

गूगल सर्च कंसोल (GOOGLE SEARCH CONSOLE )क्या होता है ?और इसका उपयोग करके किस तरह से अपनी वेबसाइट को SEO फ्रेंडली बना सकते हैं?

elements of block chain ब्लॉकचेन and working method of block chain ब्लॉकचेन

yah blockchain Aise block ki chain Hai Jiske andar information store rahti hai , Har block ke pass Pichhle block ka ek Cryptography Hash hota hai

यह hash हर ट्रांजैक्शन पर जनरेट होता है और यह हर ट्रांजैक्शन की एक string होता है
किस टेक्निक में एक ऐसा कनेक्शन होता है जिसमें लेटर और नंबर के इनपुट ko ek fix length ke encrypted output Mein Badalta Hai.

Yah Hash Keval transaction per depend nahin karta hai balki usse pahle Bane transaction HASH Is per bhi depend karta hai.

अगर ट्रांजैक्शन में एक छोटा भी चेंज किया जाए तो नया Hash बन जाता है इसका मतलब है कि अगर ब्लॉकचेन के डाटा के साथ कोई भी छेड़छाड़ की जाए तो उसकी सारी सेटिंग गड़बड़ हो जाती है

Aur Is Tarah Se record Mein Hui Hira Feri Ka Pata Lagaya Ja sakta hai इसलिए इस तकनीक को मोस्ट एडवांस और सिक्योर्ड टेक्निक  कहते हैं

यह block chain ब्लॉकचेन बहुत से कंप्यूटर पर स्प्रेड होती है और हर कंप्यूटर के पास ब्लॉकचेन की एक कॉपी होती है इन कंप्यूटर को नोट्स कहते हैं यह नोट्स है उसको चेक करके पता लगाते हैं कि ट्रांजैक्शन में कोई बदलाव तो नहीं हुआ अगर ट्रांजैक्शंस को ज्यादातर नोट्स approve कर देते हैं

तो उस ट्रांजैक्शन को ब्लॉक में लिखा जाता है यह यह नोट्स blockchain ka infrastructure develop Karte Hain.

 

block chain ब्लॉकचेन data ko Store spread aur preserve Karte Hain


एक फूल नोड कंप्यूटर जैसी डिवाइस होती है जो ब्लॉकचेन के ट्रांजैक्शन हिस्ट्री की एक फूल कॉपी होती है यह ब्लॉकचेन अपने आपको हर 10 मिनट में अपडेट करते हैं

Blockchain ke important element kya hai aur yah Milkar Kaise kam Karte Hai यह जानने के बाद अब आपको बताते हैं

 

बिटकॉइन के लिए block chain ब्लॉकचेन कैसे यूज़फुल है?

block chain
block chain

Bitcoin ke liye blockchain 1 specific type ka database hai Jo Har Bitcoin transaction ko store Rakhta hai .
Bitcoin Jaisi cryptocurrency ko  yah blockchain Bitcoin ke option ko कंप्यूटर के नेटवर्क पर स्प्रेड करता है , जिसकी वजह से इन क्रिप्टोकरेंसीज को बिना किसी सेंट्रल अथॉरिटी के अप्रूवल के स्प्रेड करना पॉसिबल हो जाता है और बड़ी ही आसानी से इस पर ट्रांजैक्शन किया जा सकता है

इन बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी के यूज से बहुत सारे रिस्क कम हो जाते हैं और बहुत सारे बैंकिंग ट्रांजैक्शन फीस और अलग और दूसरे टैक्सेस नहीं देना पड़ता है I
Bitcoin ke blockchain mein jo block hote hain vah monetary data base ko change karte rahte hain

Lekin blockchain cryptocurrencies Ke Data ke alava dusre Tarah Ke Data ko store karne ke liye bhi reliable Hota Hai, ऐसे बहुत से एरिया है जहां पर ब्लॉकचेन यूज़फुल साबित हो सकती है और बहुत सारे इंपॉर्टेंट सेक्टर की सर्विस को बेहतर बनाया जा सकता है

जैसे Jaise banking aur financial sectors ki baat ki Jaaye to insecticid mein 5 days working hota hai Iske bad Saturday aur Sunday of Hota Hai अगर इन 2 दिनों में कोई व्यक्ति अपना बैंकिंग का काम करना चाहे या चेक डिपाजिट करवाना चाहे तो उसे 2 दिन के बाद अपना काम करना पड़ता है

Aur agar aap working days main bhi cheque deposit Karte Hain To transaction Mein Kafi time lag jata hai aise mein banking system mein agar blockchain technique ka use kiya jaaye to banking transaction 10 minut Mein pura Kiya Ja sakta hai

blockchain ke jariye Bank aur Financial institute ke bich banking transaction bahut Teji Se Kiya Ja sakta hai

Medical aur health sector Mein yadi blockchain ka upyog kiya jaaye to patience ke medical record Ho bahut hi Security save kiya Ja sakta hai aur future ke liye use Kiya Ja sakta hai, patient ke medical records Ko Agar blockchain per likha Jaega Toh  तो उनको यह प्रूफ मिलेगा कि उनके मेडिकल रिकॉर्ड को अब  नहीं किया जा सकता है I In records ko blockchain Mein Store karte hue private keys ka prayog Kiya Ja sakta hai jisse ine ki privacy bhi Bani Rah sakti hai.

Health sector ke alava blockchain ka upyog supply chain management aur aur voting system Mein Bhi Kiya Ja sakta hai
सप्लाई चैन सेक्टर में सप्लायर अपने खरीदे हुए मटेरियल का रिकॉर्ड ब्लॉकचेन टेक्निक से स्टोर कर सकते हैं जिससे उन प्रोडक्ट की authenticity को वेरीफाई किया जा सकता है I

Vahi modern voting system mein block chain technique Ka prayog Karke  voting Mein hone wale fraud ko roka Ja sakta hai.Aur blockchain protocol se is voting system Mein transparency bhi Banai Ja sakti hai.

इस प्रकार बहुत से सेक्टर में  blockchain Ka prayog Karke A sector score advance aur user-friendly Banaya Ja sakta hai

 

block chain ब्लॉकचेन  के फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी होते हैं

block chain
block chain

 

block chain ब्लॉकचेन ke fayde

Transaction system main accuracy  को इंप्रूव किया जा सकता है
Verification process hatne se  cost ko reduce Kiya Ja sakta hai.
System ko secure aur private bhi Rakha Ja sakta hai

 

block chain ब्लॉकचेन  ki kamiyan

blockchain free Technology Nahin Hai
इसकी स्पीड की वजह से यह प्रति सेकंड लिमिटेड ट्रांजैक्शन ही कर सकती है

block chain ब्लॉकचेन Ka यूज इन लीगल एक्टिविटी में होता रहा है

ARTIFICIAL INTELLIGENCE (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ) KYA HAI II ISKE FAYDE AUR NUKSAN KYA HAI ?

 

Summery

Tu doston main is article main aapko block chain ब्लॉकचेन
kya hai ?