BETWEEN ARTICLE

यहां पैसे लगाओ एफडी से ज्यादा फायदा होगा?

बैंक का इंटरेस्ट रेट देखते हैं और करते हैं और अब तक तो बैंक से मेल या चिट्ठी भी आ चुकी होगी कि एसडीओ रिकरिंग डिपॉजिट पर जो इंट्रेस्ट मिलेगा उसमें से 20% टैक्स काटकर ही बैंक सरकार के पास जमा कर देगा। यानी टीवीएस का रेट बढ़ गया। आप इस से बच सकते हैं लेकिन एक नई कसरत तो हो ही गई एक ऐसा नुस्खा या इंस्ट्रूमेंट के मुकाबले ज्यादा कमाई भी देता है और जिसने शेयरों के मुकाबले जोखिम कम होता है, इसका नाम है एलसीडी या non-convertible एडवेंचर हिंदी में अपरिवर्तनीय ऋण पत्र नहीं समझे तो यूं समझ लीजिए कि कंपनी आपसे कर लेती है। डिवेंचर दो किस्म के होते हैं परिवर्तन!

पहले यह बता दूं कि कन्वर्टिबल का मतलब क्या है यहां आपसे कंपनी जो कर लेती है उस पर कुछ समय तो ब्याज भर्ती है लेकिन बाद में यह पूरा डिवेंचर यह इसका कुछ कंपनी के शेयरों में बदल दिया जाता है या नहीं, आपने जो कर दिया कंपनी उसे चुकाने के बजाय आपको कंपनी का हिस्सेदार बना देती है। अगर पूरे डिनर हो गया। पूरा डिवेंचर शहर में बदल गया। वह कहलाता है फुल्ली कन्वर्टिबल देबेंचर्स और अगर पूरे का नहीं है। कुछ पैसा आपको वापस मिल ना यार कुछ बदल जाएगा तो वहीं कन्वर्ट 1 डिग्री होती है। उसका नाम है। ऑप्शनली कन्वर्ट करें या ना करें कभी-कभी कंपनी की इच्छा पर भी हो सकता है लेकिन वह अलग कहानी है, उसको कभी और करेंगे। अभी बात हो रही है एमसीडी ने उस दिन से कि जिस पर कंपनी आपको ब्याज देती है और।

पूरी रकम वापस कर देती

इस समय पर मंथली क्वार्टर ली ईयर ली या बिल्कुल आखिर में पूरी रकम के साथ फाइनेंस का 87 महीनों की मियाद है। यानी आप जब जिस दिन पैसा लगाएंगे जिस दिन इस उपलब्ध होगा उस दिन से 87 महीने के बाद आपको पैसा वापस मिलेगा। पूरा और कंपनी इस पर 10 परसेंट ब्याज दे रही है वह बाजार से 1000 करोड़ रुपए उठाने की तैयारी में है। 28 जुलाई तक लगा सकते हैं, लेकिन अभी तो कंपनी में हो सकता है। क्यों पहले भी बंद कर दे इसी धंधे की दूसरी कंपनी पिरामल कैपिटल एनसीडी इश्यू 12 जुलाई से 23 जुलाई तक खुलेगा। वहां भी कंपनी की सोच रही है ब्याज की दर 8 पॉइंट 99% तक ही रहेगी।

जबकि हल्का अनसिक्योर्ड आई आई एफ एल का अंश का मतलब है कि कंपनी ने अपनी संपत्ति का कुछ हिस्सा के सामने सिक्योरिटी के तौर पर इसी पर की वजह से आपको दोनों कंपनियों के ब्याज में भी फर्क दिख रहा है उसे क्यों सर का इंटरेस्ट रेट कम है, अनसिक्योर्ड का ज्यादा है और यही नहीं है अभी यस बैंक का कंपनी, सीजीपीएल जुआरी, ग्लोबल टाटा मोटर्स, श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस, बजाज फाइनेंस और एसबीआई कार्ड जैसी कंपनियां एमसीडी के बाजार में आ रही हो। अगर आपके पास लगाने लायक पैसा है। खाली पड़ा है जो आप काफी समय तक के लिए छोड़ सकते हैं तो आप ही ने उसको देखते हैं। ध्यान रखिएगा मैं लगा सकते हैं नहीं कर सकते हैं क्योंकि सलाहकारों की राई यह होती है कि छोटे निवेशकों को एनसीडी से दूर ही रहना चाहिए। खासकर अगर आपको बीच में रकम की जरूरत पड़ गई।

अगर आप सिर्फ ऊंचा ब्याज देखकर पैसा लगा देते हैं तो आप कमजोर कंपनी में फंस सकते हैं। यूनाइटेड स्टेट्स। एक रिलायंस होम फाइनेंस का है रिलायंस होम फाइनेंस एनसीडी पर भुगतान नहीं कर पाया। एनसीएलटी के बाद लोग शिकायत लेकर गए और एनसीपी ने कंपनी को निर्देश दिया है कि अगले 5 महीनों में 19000 डिवेंचर धारकों को पैसे देने का इंतजाम करें। ऐसा दूसरा मामला है डीएचएफएल देवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड आपको पता होगा दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड एनसीएलटी में जाने के बाद पिरामल कैपिटल एंड हाउसिंग में खरीदा है और उसमें जो कर दें। उन्होंने दे रखे थे काफी कर्ज में डूबी हुई थी, उस कण पर भारी हेयरकट हुआ है और उसमें वह क्या है कि जो रिटेल के लोग कंपनी अपनी में पैसा लगाते हैं वहां भी इस तरह की कंपनियां बहुत मोटा ब्याज कैसे लगाते हैं और एमसीडी में भी ऐसा ही हुआ और इन लोगों का पैसा लगा हुआ था।

उसमें जो अब जिन लोगों ने इसको लिया है कि कॉल किया है कर्ज एक और कंपनी को अब एचडी वालों को और एमसीडी होल्डर्स को पूरा पैसा देने को तैयार नहीं है। हालत यह है कि एमसीडी पर उन्होंने तय किया है कि आपका जो पैसा बनता है उसका 5 परसेंट दिया जाएगा या नहीं। 95 परसेंट दबाव पड़ रहा है। वह लोग कह रहे हैं 40 परसेंट तो दीजिए कम से कम लेकिन उनके जो कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स है, वह मान नहीं रही है कि मामला अभी एनसीआरटी में चेंज हो सकता है यह मामला और आगे कानूनी लड़ाई में चला जाए तो यह खतरा कनवर्टर कनवर्टर के साथ रहता है जो शेर के साथ रहता है। कंपनी का धंधा खराब हो गया। कंपनी डूब सकता है इस वजह से मैंने आपको बताया था।

शेरों के मुकाबले कांग्रेस के जैसे उसी कंपनी के शेयर पूरी तरह गायब कर दिया जाए। एनसीडी होल्डर को 5:00 पर्सेंट दिया जा रहा है। आप कह सकते हैं ऊंट के मुंह में जीरा लेकिन कुछ तो मिल रहा है कायदे से पूरा मिलना चाहिए तो मिलना चाहिए और इस मांग को लेकर

क्या फैसला होगा कब होगा यह एक लंबी कहानी है और इसी वजह से इसकी वजह से लोग कहते हैं कि एलसीडी से दूर रहना चाहिए लेकिन कम ब्याज देती हैं जिनके नामnon-convertible आपको पूरे भरोसे के साथ लोग पैसा लगाते हैं उनमें कुछ कंपनियों के सो जा रहे हैं जब आएंगे आप की क्रेडिट रेटिंग देखनी होगी। जैसे अभी कुछ समय पहले वो कार्ड कैंडी आया था। 12 परसेंट से ऊपर भेज दे रहा था लेकिन क्रेडिट रेटिंग थी तो कमजोर क्रेडिट रेटिंग थी। अगर ट्रिपल ए प्लस प्लस क्रेडिट रेटिंग वाले डिवेंचर आपके सामने आते हैं तो उन पर आपको विचार करना चाहिए लेकिन बाकी अपनी परिस्थितियों पर विचार करना ज्यादा जरूरी है। वह ध्यान जरूर रखिएगा और भरोसेमंद इन्वेस्टमेंट एडवाइजर की सलाह लेना